Investing

11 Best Investment Options in India – भारत में सर्वश्रेष्ठ निवेश के विकल्प

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr

निवेश करना इतना आसान नहीं होता है। यह सीखना कि आप अपने पैसे को आपके लिए काम करने के लिए कैसे लगाते हैं – यही निवेश है। इस post मैं आप जानेगे Best Investment Options in India.

आपको सही investment की पहचान करने की आवश्यकता होती है, उसका मूल्यांकन करना पड़ता है कि क्या वह आपके personal goals के अनुरूप है, और क्या वो एक अच्छे रिटर्न देने का दम रखता है।

आपके लिए best investment options को आसान बनाने के लिए, हम आपके लिए भारत में सर्वश्रेष्ठ निवेश के विकल्प लेकर आए हैं।

Best Investment Options in India – भारत में सर्वश्रेष्ठ निवेश के विकल्प

1. Public Provident Fund (PPF) – सार्वजनिक भविष्य निधि

यदि आप एक long term investment की तलाश मैं हैं तो सार्वजनिक भविष्य निधि (Public Provident Fund), जिसे लोकप्रिय रूप से पीपीएफ (PPF) के रूप में जाना जाता है, आपके लिए सबसे सुरक्षित विकल्प है।

पीपीएफ में निवेश करने की सबसे अच्छी बात यह है कि आपको पीपीएफ से मिलने वाले ब्याज पर कोई भी कर (tax) का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं होती है।

जब आप किसी बैंक या post office में PPF account खोलते हैं, तो आपके द्वारा जमा किया गया पैसा 15 साल की अवधि के लिए lock हो जाता है। आप PPF मैं पांच साल का extension भी ले सकते हैं।

PPF account holders एक financial year में 1.5 लाख रुपये तक निवेश कर सकते हैं जबकि आवश्यक न्यूनतम जमा राशि केवल 500 ​​रुपये है।

आप अपने द्वारा किए गए निवेश पर चक्रवृद्धि ब्याज (compound interest) कमाते हैं।

PPF में निवेश का एकमात्र नुकसान यह है कि आप कम से कम 6 साल पूरा होने से पहले पैसा नहीं निकाल सकते।

चूंकि अर्जित ब्याज और निवेशित मूलधन sovereign गारंटी द्वारा समर्थित है, इसलिए यह PPF को एक सुरक्षित निवेश बनाता है।

PPF scheme एक बहुत अच्छी investement है long term के लिए और आपको इस मैं invest करना चाहिए|

2. National Pension System (NPS) – राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली

नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) भारत के नागरिकों को बुढ़ापे की सुरक्षा प्रदान करने के लिए भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक पेंशन निवेश योजना है।

और शब्दों मैं कहें तो यह एक लंबी अवधि की निवेश योजना है जो retirement के बाद की आय पर केंद्रित है।

यह योजना पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) द्वारा नियंत्रित की जाती है। PFRDA द्वारा स्थापित नैशनल पेंशन सिस्टम ट्रस्ट (NPST) NPS के तहत सभी परिसंपत्तियों का पंजीकृत मालिक है।

सफल नामांकन पर, एक स्थायी सेवानिवृत्ति खाता संख्या (PRAN) एनपीएस के तहत ग्राहक को आवंटित की जाती है।

अन्य पेंशन उत्पाद उपलब्ध की तुलना में एनपीएस खाता खोलने के अपने फायदे हैं जैसे की:

  • कम लागत वाला उत्पाद – Low investment product
  • आकर्षक बाजार से जुड़े रिटर्न – market linked returns
  • आसानी से पोर्टेबल – portable scheme
  • पेशेवर रूप से अनुभवी पेंशन फंड द्वारा प्रबंधित – managed by professional fund managers.

इस योजना के तहत, योगदान की गई राशि को विभिन्न परिसंपत्तियों जैसे इक्विटी (Equity), फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposits), बॉन्ड (Bonds) और सरकारी प्रतिभूतियों (Government Securities) में निवेश किया जाता है।

भारत का कोई भी व्यक्तिगत नागरिक (निवासी और अनिवासी दोनों) 18-65 वर्ष (एनपीएस आवेदन जमा करने की तिथि पर) NPS – एनपीएस scheme में शामिल हो सकता है।

NPS में प्रति वर्ष 6,000 रुपये का न्यूनतम योगदान आवश्यक है, जबकि कोई ऊपरी कैप नहीं है।

3. Bank Fixed Deposits – बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट

Fixed Deposits (सावधि जमा) निवेश का एक नियमित आय स्रोत है। फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश करने के कुछ सबसे अच्छे कारण हैं जैसे की यह जोखिम से मुक्त है और फिक्स्ड रिटर्न की गारंटी भी देता है।

Fixed Deposit (फिक्स्ड डिपॉजिट) की ब्याज दरें अन्य जोखिम-मुक्त निवेश साधनों जैसे Treasury Bills या Government Bonds से अधिक होती हैं।

बैंक सावधि जमा (FD) निश्चित रिटर्न प्रदान करते हैं और रिटर्न मासिक, वार्षिक या द्वि-वार्षिक आधार पर देय होते हैं, जो बैंक नीति पर निर्भर करता है।

आप अपनी आवश्यकता के आधार पर सात दिनों के न्यूनतम कार्यकाल से लेकर अधिकतम 10 वर्ष तक की अवधि के लिए किसी भी Fixed Deposit में invest कर सकते हैं।

Fixed Deposit schemes बैंकों और एनबीएफसी (गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों) द्वारा issue कि जाती है। फिक्स्ड डिपॉजिट आपको अपने महंगाई से बचाने में मदद कर सकते हैं।

4. Gold – सोना

सोने में निवेश आपके portfolio को liquidity देता है।

सोना एक विविध निवेश पोर्टफोलियो का एक बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा होना चाहिए क्योंकि इसकी कीमत उन घटनाओं की प्रतिक्रिया में बढ़ जाती है जब stock और bond जैसे paper investments के मूल्य में गिरावट होती हैं।

परंपरागत रूप से सबसे अच्छे विकल्पों में से gold investment एक माना जाता है, gold की निवेश योजनाएं आपको blocked asset को high liquidity में बदलने का मौका देती हैं।

Gold Exchange Traded Fund (गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड) एक अच्छा option है gold मैं invest करने का|

गोल्ड ईटीएफ डीमैट मोड में हैं और इसे इलेक्ट्रॉनिक रूप से बहुत आसानी से एक्सेस किया जा सकता है।

यद्यपि short term में सोने की कीमत अस्थिर हो सकती है, लेकिन इसने हमेशा लंबे समय तक अपने मूल्य को बनाए रखा है।

5. Initial Public Offering (IPO) – आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ)

जब भी कोई कंपनी शेयर बाजार मैं list होना चाहती है तो वो IPO लाती है|

IPO के द्वारा नई कंपनियां एक्सचेंजों में listed होने से पहले अपने शेयरों को खरीदने के लिए public को आमंत्रित करती हैं।

एक बार जब कंपनी एक स्टॉक एक्सचेंज में listed हो जाती है, तो इसकी शेयर की कीमत बाजार की स्थितियों के अधीन हो जाती है जैसे की कंपनी के प्रदर्शन, भविष्य की क्षमता, management और अन्य कारकों में शामिल हैं।

IPO मैं invest करने के लिए आपके पास एक Demat account होना चाहिए|

6. Sukanya Samriddhi Yojana – सुकन्या समृद्धि योजना

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana – SSY) भारत सरकार की एक छोटी जमा योजना है जिसका मतलब विशेष रूप से एक बालिका के लिए है और इसे goverment ने “बेटी बचाओ बेटी पढाओ” अभियान के एक भाग के रूप में public के लिए launch किया है।

यह योजना बालिकाओं की शिक्षा और शादी के खर्चों को पूरा करने के लिए एक अच्छी investment है।

यह 21 वर्ष के कार्यकाल के साथ आता है और केवल 10 वर्ष से कम आयु के बच्चे के माता-पिता द्वारा ही खोला जा सकता है।

न्यूनतम Rs. 1,000 का निवेश एक वित्तीय वर्ष में किया जा सकता है और अधिकतम निवेश Rs. 1,50,000 एक वित्तीय वर्ष में किए जा सकते हैं|

निवेश की गई राशि, प्राप्त ब्याज और अंतिम राशि, सभी को कर छूट प्राप्त है।

7. Bonds – बांड

यदि आप एक बहुत ही सुरक्षित निवेश के विकल्प को ढूंढ रहें है तो Bonds आपके लिए सही हैं।

ऐसे कई बॉन्ड हैं जो मामूली ब्याज दर की पेशकश करते हैं, और कई सरकारों द्वारा मंगाई जाती हैं, जिससे वे काफी सुरक्षित विकल्प बन जाते हैं!

अपनी आवश्यकता के आधार पर, आप या तो कॉर्पोरेट या सरकारी बॉन्ड में निवेश कर सकते हैं।

8. Real Estate – रियल एस्टेट

भारत में, अचल संपत्ति (real estate) में invest करना निवेशकों द्वारा सबसे सुरक्षित दांव में से एक माना जाता है।

Real estate में निवेश India में सबसे आकर्षक और फायदेमंद है, क्योंकि विकास की संभावना बहुत बड़ी है और बाजार बढ़ रहा है।

हाल के वर्षों में, real estate investments में तेजी से मूल्य में वृद्धि हुई है।

अचल संपत्ति में निवेश करते समय, आप आवास (residential), commercial और retail sector में पैसा लगा सकते हैं।

9. RBI Taxable Bonds – आरबीआई टैक्सेबल बॉन्ड

RBI Taxable Bonds 7 साल के कार्यकाल के साथ आते हैं।

बांड डीमैट रूप में जारी किए जा सकते हैं और निवेशक के बॉन्ड लेजर खाते (बीएलए) में जमा किए जाते हैं|

निवेशक को निवेश के प्रमाण के रूप में होल्डिंग का प्रमाण पत्र भी दिया जाता है।

10. Equity Mutual Fund – इक्विटी म्यूचुअल फंड

Equity Mutual Funds (इक्विटी म्यूचुअल फंड) में, पैसा किसी कंपनी के शेयरों या शेयरों में निवेश किया जाता है।

ये स्कीम अधिक रिटर्न देती हैं, लेकिन ये बहुत जोखिम भरा भी होता है क्योंकि रिटर्न शेयर बाजार के प्रदर्शन पर निर्भर करता है।

11. Direct Equity – प्रत्यक्ष इक्विटी

यदि आप समझते हैं कि शेयर बाजार कैसे काम करता है और आप जोखिम उठा सकते हैं तो आप सीधे इक्विटी में निवेश कर सकते हैं।

सही share चुनना महत्वपूर्ण है और share market में entry करने और exit के लिए उचित मात्रा में विचार करना चाहिए।

लंबी अवधि के लिए, equity अन्य सभी investment vehicles की तुलना में inflation-adjusted return से अधिक देने में सक्षम है।

तो ये थे वो 11 Best Investment Options in India – भारत में सर्वश्रेष्ठ निवेश के विकल्प|

हमें उम्मीद है कि आपको यह post पसंद आया होगा। कृपया इस लेख को अपने निकट और प्रिय लोगों के साथ share करें।

आपको पसंद आएंगे – You Might Also Like

Write A Comment

Pin It