Personal Finance

What is ESI Scheme – ESI Benefits की पूरी जानकारी

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr

ESI (Employee State Insurance Corporation) कर्मचारी राज्य बीमा निगम भारत सरकार के Labour and Employment मंत्रालय के तहत कानून द्वारा बनाया गया एक स्वायत्त निकाय (autonomous body) है।

चलिये जानते हैं ईएसआई की इस स्कीम के बारे मैं।

ESI Scheme in Hindi

यह योजना Indian workers के लिए शुरू की गई है। Workers को employers से कई प्रकार की चिकित्सा, monetary और अन्य लाभ प्रदान किए जाते हैं।

कोई भी कंपनी जिसमें 10 से अधिक कर्मचारी हैं (कुछ राज्यों में यह 20 कर्मचारी हैं) और जिनका अधिकतम वेतन 21,000 rupees से कम है, को अनिवार्य रूप से ESI के साथ खुद को registered करना होगा।

ESI scheme उन सभी employees कि जो ESI Act 1948 मे registered है। यह scheme उनकी बीमारी, चोट, maternity, अपंगता और मृत्यु आदि के कारण काम करने में inability के समय उनकी मदद करती है।

esic scheme

ऐसे कर्मचारियों को financial assistance प्रदान करके इस मदद को बढ़ाया जाता है, इस तरह की सहायता उन्हे काम न कर पाने की उनकी incapacity के कारण salary loss के लिए दी जाती है और उनके साथ-साथ उनके family members को medical care प्रदान करती है।

इसके अलावा, यह एक self-financing योजना है, जिसमें employer के साथ-साथ employees द्वारा योगदान के लिए धनराशि प्रदान की जाती है। इस तरह के योगदान monthly basis पर ऐसे employees को दी जाने वाली salary के एक fixed percentage पर किए जाते हैं।

ESI scheme के लिए Applicability

ESI Act मे U/s 2 (12) के अनुसार, सभी कारखाने जहां 10 या अधिक workers कार्यरत हैं, उन्हें ESI act के तहत registered होना चाहिए। दूसरे शब्दों में, यह योजना उन कारखानों पर लागू होती है जो 10 या अधिक workers काम करते हैं।

ESI योजना में शामिल है:

  • दुकानें (shops).
  • होटल या रेस्तरां जो किसी भी manufacturing activity में नहीं लगे हुए हैं, लेकिन केवल sale में लगे हुए है।
  • सड़क मोटर transport establishment।
  • सिनेमा जिसमें preview थिएटर भी शामिल हैं।
  • समाचार पत्र establishments (जो ESI act मे u/s 2 (12) मे factory के रूप में शामिल नहीं हैं)।

Private educational institutes (जो चलाये जाते है व्यक्ति, ट्रस्टी, सोसाइटी या अन्य संगठनो से) और Medical institutions (जिसमे corporate, joint sector, ट्रस्ट, charitable धर्मार्थ और private ownership वाले अस्पताल, नर्सिंग होम, डायग्नोस्टिक सेंटर, pathological labs शामिल है)

क्या employer के लिए ESI Act के तहत registration करना आवश्यक है?

हां, जिन factories या establishments में 10 या उससे अधिक workers कार्यरत हैं उन्हें ESI act, 1948 के तहत registration कराना आवश्यक है। ऐसे employers को ESI scheme योजना लागू होने के 15 दिनों के भीतर खुद को register करवाना होगा।

क्या ESI स्कीम के तहत आने वाले factory/establishment तब भी कवर किया जा सकता है, जब उसके workers  की संख्या निर्धारित सीमा से कम हो जाए?

एक बार जब कोई factory या establishment ESI act के दायरे में आता है, तो वह ESI act के तहत ही कवर किया जाता है। बावजूद इसके कि :

ऐसे factory/establishment जो ESI act मे कवर होते है उनमे कम करने वाले workers की संख्या prescribed limit से कम हो जाती है।

ऐसी factory/establishment की manufacturing activity में बदलाव होता है।

ESI scheme के लिए wages limit

जिन कर्मचारियों का वेतन 21,000 से अधिक नहीं है वह ESI act, 1948 के तहत कवर किए जाने के हकदार हैं।

10 या उससे अधिक किसी factory/establishment के कर्मचारी जो 21,000 तक का वेतन ले रहे है वह ESI act के तहत medical benefit प्राप्त करने के हकदार हैं।

इस प्रकार, यदि कर्मचारियों का वेतन सीमा इस के भीतर आता है, तो उनके वेतन का monthly basis पर ESI योजना के लिए उनके योगदान के रूप में उनके वेतन एक fixed  percentage में कटौती की जाएगी।

इसके अलावा, ऐसे कर्मचारी हैं, जिन्हें employer द्वारा उन्हें भुगतान की गई मजदूरी में से ESI scheme के लिए इस तरह का योगदान करने की जरूरत नही है, यदि वह daily average wages 137 रुपये तक ले रहे है, इस तरह के वेतन पर employer के योगदान का ही भुगतान किया जाता है।

भारत सरकार ने ESI act के तहत योगदान की दर कम कर दी है। ये दरें 2 जुलाई, 2019 से effective हैं।

ParticularsCurrent RateReduced Rate
Employer Share4.75%3.25%
Employee Share1.75%0.75%

ESI की मुख्य विशेषताएं और लाभ:

Employee state insurance corporation द्वारा कई आकर्षक सुविधाएँ और लाभ प्रदान किए जाते हैं। यह न केवल medical benefits प्रदान करता है, बल्कि यह financial security के रूप में भी काम आता है, जैसे बेरोजगारी, आदि। इनमें से कुछ लाभ नीचे हैं :

1. Medical benefit : ESIC उचित medical facility प्रदान करके किसी व्यक्ति के medical expenses का ध्यान रखता है। यह कवर व्यक्ति के employment के पहले दिन से लागू होता है।

2. Disability benefit : यदि किसी कर्मचारी को कोई disability या कोई injury हो जाती है, तो ESI यह सुनिश्चित करता है कि कर्मचारी को temporary disability के मामले में, चोट की अवधि तक या permanent disability की स्थिति में कर्मचारी के शेष जीवन के लिए उनके monthly wages का भुगतान किया जाए।

3. Maternity benefit : ESI एक कर्मचारी को अपने बच्चे के घर में स्वागत करने में मदद करता है । ESI average daily wages का कुल 100% labor में जाने के समय से 26 weeks की अवधि और abortion के मामले में 6 weeks तक प्रदान करता है। Adoption के मामले में 12 weeks  का वेतन प्रदान किया जाता है।

4. Sickness benefit : ESI यह सुनिश्चित करता है कि medical leave के दौरान कर्मचारी के घर में cash flow हो। एक कर्मचारी की average daily wages का 70% दो बार के successive period में 91 दिनों की अधिकतम अवधि के लिए भुगतान किया जाता है।

5. Dependent’s benefit : यदि कर्मचारी को रोजगार के स्थान पर चोट लगने के कारण untimely death  होती है, तो ESI dependents के बीच मासिक भुगतान प्रदान करेगा।                                                          

ESIC registration के लिए आवश्यक documents क्या हैं

Registration के लिए आवश्यक documents हैं –

  • एक registration certificate जो प्राप्त किया है : Factories Act, Shops and Establishments Act।
  • कंपनी के मामले में certificate of registration, और partnership के मामले में partnership deed।
  • Establishment में काम करने वाले सभी कर्मचारियों की एक सूची।
  • सभी कर्मचारियों के साथ-साथ establishment का पैन कार्ड।
  • कंपनी के बैंक खाते का cancelled cheque।
  • कंपनी के directors की सूची।
  • कंपनी के shareholders की सूची।
  • कर्मचारियों का attendance register।

सभी documents को इकट्ठा करने के बाद ESI के registration के लिए निम्नलिखित प्रक्रिया को किया जाता है:

Form No – 1 (Employer’s registration form) डाउनलोड और भरा जाता है।

Form के PDF version को डाउनलोड करने और इसे भरने के बाद, इसे वैबसाइट पर ऊपर दिये गए documents के साथ ही जमा करना होता है।

Form verification के बाद क्या प्रक्रिया है?

Step 1: Form के verification के बाद, सरकार 17 अंकों का एक unique नंबर जारी करेगी।

Step  2: जो कर्मचारी इस योजना के तहत registered है, वह employer को registration की प्रक्रिया के रूप में अपनी और परिवार के सदस्यों के भरे हुए फॉर्म और फोटो प्रदान करेगा और registration के बाद ESI कार्ड प्राप्त करेगा।

Step 3: कंपनी या उसके कर्मचारियों में कोई भी बदलाव होने पर ESIC को सूचित किया जाएगा।

Registration फाइनल होने के बाद हर साल कितने return file किए जाते हैं?

Registration के बाद ESI रिटर्न को वर्ष में दो बार file करना होता है। Return file करने के लिए निम्नलिखित documents  की आवश्यकता होती है:

  • कर्मचारियों का attendance register.
  • Form 6 – Register.
  • Wages register.
  • किसी भी accident का register जो business premises में हुआ है।
  • Monthly returns और challan.

तो यह थी जानकारी ESI Scheme और ESI Benefits के बारे मैं।


हमें आशा है कि आपको यह लेख पसंद आया होगा। कृपया इस लेख को अपने निकट और प्रिय लोगों के साथ share करें।

आपको पसंद आएंगे – You Might Also Like

Write A Comment

Pin It