Investing

7 Tips on Investing in Mutual Funds – म्यूचुअल फंड में निवेश के टिप्स

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr

Mutual fund एक trust है जो कई investors से पैसा इकट्ठा करता है जो एक सामान्य निवेश उद्देश्य के लिए investment करते हैं। फिर यह म्यूचुअल फ़ंड, इस money को bond, money market instruments/ या अन्य securities में invest करता है।

हालांकि, India में mutual funds अब काफी लोकप्रिय हो गए है, फिर भी भारत में ज्यादातर लोगों को इस तरह के निवेश का ज्ञान नहीं है। इस पोस्ट मैं आप जानेगे mutual funds में निवेश करने के 7 टिप्स.

म्यूचुअल फंड में निवेश के टिप्स – Mutual Fund Investment Tips

1. आपका जोखिम जानना (Know Your Risk Tolerance)

Mutual funds चुनने से पहले, अपनी risk tolerance (आपके जोखिम लेने की ability) और market के उतार-चढ़ाव के स्तर का एक माप जानना ज़रूरी है|

यदि आप केवल mutual fund के साथ निवेश करना शुरू कर रहे हैं और यदि आप अत्यधिक चिंतित हो जाते हैं जब आपके Rupees 10,000 की value एक वर्ष की अवधि में 10% (Rupees 9,000) तक गिर जाता है, तो आपकी risk tolerance कम है| इसका मतलब यह है की उच्च जोखिम वाले निवेश शायद आपके लिए नहीं हैं| आप एक Balanced या “Hybrid” म्यूचुअल फंड मैं invest करके शुरुआत करने पर विचार कर सकते हैं।

आपके लिए अपनी risk tolerance के बारे मैं जानना महत्वपूर्ण है।

2. अच्छे फ़ंड का चुनाव – Choose Fund Carefully

अपने फंड को अपने research के basis मैं और अपने दोस्तों या परिवार के लिए advice के हिसाब से चुनें अगर उन्होने भी उस mutual fund मैं invest किया है|

एक सावधानीपूर्वक शोध (research) आपके लिए सबसे good fund चुनने के लिए बहुत जरूरी है। म्यूचुअल फंड के portfolio की monitoring और performance के बारे मैं जानना बहुत ही महत्वपूर्ण है।

3. आपके फंड में विविधता – Diversify across asset classes

अपने फंडों में diversification करें। Mutual funds में विभिन्न श्रेणियों में diversification करने का option होता है|

एक diversified mutual fund पोर्टफोलियो में किसी sector fund, particular asset category की तुलना में कम जोखिम होता है।

4. अपने म्यूचुअल फंड के पिछले प्रदर्शन की जाँच करें – Check Past Performance

Mutual fund मैं invest करने से पहले उस mutual fund के past performance का record देखें।

अपने selected fund को benchmark से compare करें| Sensex और Nifty एक बेंचमार्क हो सकता है। इसके अलावा, फंड के annual और annualized return के बारे में भी check करें।

5. एक लंबी अवधि के लिए निवेशित रहें – Invest For Long Period of Time

अगर आप किसी Equity mutual fund में invest कर रहे हैं तो आपको कम से कम 3 से 5 years की duration के लिए invest करना चाहिए।

3 से 5 साल की अवधि का निवेश आपको अपने रिटर्न को बढ़ाने का अवसर देता हैं। अगर आप किसी debt mutual fund या liquid mutual fund मैं invest कर रहें हैं तो आपके investment की अवधि कम भी हो सकती है।

6. Avoid NFO (New Fund Offers)

NFO (New Fund Offer) fund houses द्वारा शुरू की गई नई स्कीम (new scheme) को कहते हैं| Mutual fund houses पहली बार जब scheme मैं subscription offer लाते हैं वो NFO से ही होता है।

क्यूंकी NFOs नये होते हैं तो इसलिए उनका कोई Track Record नहीं होता|एनएफओ में निवेश करना अंधेरे में तीर चलाने की तरह है। आपके लिए अच्छा ये होगा की आप किसी current scheme का चयन करें जिसका track record अच्छा हो और उसमे invest करें|

सीधे सीधे कहें तो NFO के बजाय आप Equity funds में invest का चुनाव करें, जिनका एक long history और proven track record है।

7. Avoid Noise on Mutual Funds

लोग हमेशा मुफ्त सलाह दे रहे हैं कि किस फंड को खरीदना है और कौन से fund से बचना है। लेकिन इन टिप्स को हमेशा एक चुटकी नमक के साथ लें।

आप कभी भी अपनी research किए बिना mutual fund मैं निवेश न करें। यदि आपको पता चलता हैं कि फंड वास्तव में उतना ही अच्छा है जितना कि उल्लेख किया गया है, तो आगे बढ़ें और निवेश करें। लेकिन अपने धन को केवल एक फंड में न डालें क्योंकि किसी ने आपको बताया था।

तो यह हैं वो 7 Tips on Investing in Mutual Funds – म्यूचुअल फंड में निवेश के टिप्स जो आपको बहुत हेल्प करेंगी mutual funds मैं invest करने मैं|

हम आशा करते हैं की आपको ये blog posts पसंद आई होगी|अगर आपको इस blog post से फायदा हुआ है तो आप इस पोस्ट को share करें अपने friends और relatives के साथ|

आपको पसंद आएंगे – You Might Also Like

Write A Comment

Pin It