Personal Finance

Kisan Vikas Patra – Eligibility, Features, Interest Rates & Returns – किसान विकास पत्र

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr

किसान विकास पत्र (Kisan Vikas Patra) भारतीय डाकघर (India Post Office) की एक Certificate scheme है। किसान विकास पत्र (KVP) को वर्ष 1988 में India Post द्वारा launch किया गया था।

यह investors के सुरक्षित भविष्य के लिए देश में small savings को encourage करने के लिए भारत सरकार की पहल है|

यह लगभग 10 साल और 4 महीने (124 महीने) के time period में एक बार के investment को double कर देता है। उदाहरण के लिए, 5000 रुपये का एक किसान विकास पत्र आपको 10,000 रुपये देगा time period पूरा होने पर।

किसान विकास पत्र (KVP) certificates के रूप में India के post offices में उपलब्ध एक saving scheme है।

यह उन investors के लिए ठीक है जो risk नहीं लेना चाहते हैं, जिनके पास surplus money है और जो एक fixed return की तलाश कर रहे हैं।

इस post मैं हम इस scheme की विशेषताओं के बारे मैं जानेगे।

Kisan Vikas Patra Complete Information

1. What is Kisan Vikas Patra – (किसान विकास पत्र क्या है)

India Post ने 1988 में किसान विकास पत्र को एक small savings certificate scheme के रूप में पेश किया। इसका प्रमुख उद्देश्य लोगों में long-term के लिए financial discipline को बड़ाना है।

इस scheme मे, 01.04.2020 के अनुसार, इसका time-period अब 124 महीने (10 वर्ष और 4 महीने) है। कम से कम investment 1000 रुपये है और इसमे कोई maximum limit नहीं है।

और अगर आज आप एक investment करते हैं, तो आप 124 वें महीने के अंत में double amount प्राप्त कर सकते हैं।

शुरुआत में, यह किसानों को लंबी समय की अवधि के लिए बचत करने के लिए सक्षम करने के लिए था, जैसा की इसका नाम बताता है मगर अब यह scheme सभी के लिए उपलब्ध है।

Money Laundering की possibilities को stop करने के लिए, 2014 मे सरकार ने 50,000 रुपये से ऊपर की investment लिए PAN card proof compulsory कर दिया है।

10 लाख और उससे अधिक invest करने के लिए आपको अपनी income proofs (जैसे salary slip, bank statement, ITR proofs आदि) जमा करना होगा|

यह कम risk वाली saving scheme है, जहां आप एक fixed time के लिए अपने पैसे सुरक्षित रूप से रख सकते हैं। इसके अलावा, अब account holder की पहचान के रूप में Aadhaar number जमा करना भी जरूरी है |

2. Kisan Vikas Patra के प्रकार – Types of KVP

किसान विकास पत्र Certificates निम्न प्रकार के हो सकते हैं:

(A) Single holder type certificate: इस तरह का सर्टिफिकेट किसी वयस्क (adult) को अपने लिये या नाबालिग (minor) की ओर से जारी किया जाता है, या फिर वह नाबालिग के लिए invest कर सकता है।

इस certificate में, आप केवल एक family member को nominate कर सकते हैं, जो आपके मरने पर, पैसे प्राप्त करेगा। यह scheme किसी अन्य व्यक्ति को certificate transfer करने की भी अनुमति देती है।

जैसे आप अपने नाम पर 1,000 रुपये के KVP certificates खरीदते हैं तो आप अपने spouse नाम पर certificates transfer के लिए कह सकते हैं।

(B) Joint “A” type certificate: इस प्रकार का certificate है जिसमे maximum तीन वयस्क (adults) को जारी किया जा सकता है, यह उन्हे jointly या जो maturity के समय जीवित होता है, उसे पैसे दिये जाते है।

इस प्रकार के certificate मे भी, आप उन members को nominate कर सकते हैं जो आपके न रहने पर पैसे प्राप्त कर सकेंगे। इस scheme मे भी आप joint holders से किसी अन्य व्यक्ति को certificate transfer कर सकते है।

 (C) Joint “B” type certificate: यह certificate भी jointly invest करने वाले maximum तीन वयस्कों (adults) को जारी किया जा सकता है।

इस प्रकार के certificate मे maturity के समय account holders में से किसी एक को पैसा मिलता है। यदि account holders मे से कोई एक व्यक्ति मर जाता है, तो पैसे जीवित रहने वाले holder को मिलते है।

यह certificate भी आपको nomination की भी सुविधा देता है। यहाँ भी आप certificates किसी अन्य व्यक्ति को transfer कर सकते है ।

3. Kisan Vikas Patra मे किसे invest करना चाहिए – Who Should Invest     

कोई भी Indian Citizen जिसकी आयु 18 वर्ष से अधिक है, इस scheme में invest कर सकता है और Kisan Vikas Patra खरीद सकता है।

इसमे आयु की कोई maximum limit नहीं है, जिसका मतलब है कि senior citizen भी योजना में invest कर सकते हैं। Minors भी KVP certificates मे invest कर सकते है, लेकिन account holder कोई वयस्क (adult) होना चाहिए।

Minors तभी invest कर सकते हैं जब कोई adult उनकी ओर से certificate खरीदता है।

Adults भी एक joint account का option ले सकते हैं और maximum तीन एक साथ KVP खरीद सकते हैं। वे दोनो options में से कोई एक चुन सकते हैं – type A और type B।

Type A यह बताता है कि maturity पर पैसे account holders को या उनमे से उस समय जो जीवित रहता है उसे भुगतान किया जाएगा – Type B में maturity amount का भुगतान दोनों में से किसी एक account holder को किया जाता है या फिर दोनों मे से किसी एक जीवित को।

केवल भारत में रहने वाले भारतीय नागरिक ही KVP certificates खरीद सकते हैं। Non-resident Indians को KVP scheme में invest करने की अनुमति नहीं है।

NRI के अलावा, HUF (हिंदू-एकल परिवार) यह certificate नहीं खरीद सकते हैं। यह scheme ट्रस्टों को KVP खरीद की अनुमति देती है लेकिन कंपनियां इसे नहीं खरीद सकती हैं।

4. KVP की विशेषताएं और लाभ – Features and Benefits

(i) गारंटीड रिटर्न (Guaranteed Returns)

KVP योजना का सबसे बड़ा लाभ यह है कि यह पूरी तरह से सुरक्षित है। बाजार में हो रहे fluctuations के बावजूद इसमे आपको गारंटीड रिटर्न्स मिलते हैं।

पहले यह scheme मुख्य रूप से किसानो के लिए थी, इसलिए प्राथमिकता उन्हें बरसात और दूसरी आपदाओ से बचाने के लिए प्रोत्साहित करना था।

इस scheme के सुरक्षित होने का एक और कारण यह है कि यह सरकार द्वारा चलाई जा रही है।

(ii) पूंजी सुरक्षित (Capital protection)

यह investment करने का एक सुरक्षित तरीका है और इसमे कोई भी market risks नहीं है। समय पूरा होने पर आपको investment और gains एक साथ मिलेंगे।

(iii) समय सीमा (tenure)

Kisan Vikas Patra की मौजूदा समयसीमा 1 अप्रैल 2020 को 124 महीने (10 years और 4 महीने) है और इसके बाद आप अपने पैसे का लाभ उठा सकते हैं।

(iv) कर लगाना (Taxation)

यह scheme section 80C deductions के अंतर्गत नहीं आती है, और returns पूरी तरह से taxable हैं।

यह scheme उन लोगो के लिए नहीं है जो tax saving के लिए investment करना चाहते है ।

(v) समयसीमा से पहले पैसे निकालना (premature withdrawal of money)

आप maturity के बाद में अपना पैसा ले सकते हैं। आप इसे समय से पहले भी निकाल सकते हैं।

यदि आप KVP certificates खरीदने के एक साल के भीतर ही निकाल लेते हैं, तो आपको कोई interest नहीं मिलेगा और penalty भी लगायी जाएगी।

यदि आप एक वर्ष के बाद, लेकिन KVP खरीदने के ढाई साल से पहले वापस लेते हैं, तो कोई penalty नहीं लगेगी लेकिन आपको मिलने वाला interest कम रहेगा।

Certificates खरीदने के 2.5 साल बाद निकालने से किसी भी टाइप की penalty नहीं लगेगी और आपको interest rate के अनुसार interest मिलेगा।

आप 124 महीने के बाद अपनी पूरी KVP राशि निकाल सकते हैं।

(vi) KVP certificates के against loan

KVP certificates के सभी customers इन्हे security या collateral के रूप में उपयोग करके कम rate of interest पर loan ले सकते हैं।

सभी बैंक KVP certificates को accept करते है। दिए जाने वाले लोन की amount KVP investment और KVP certificates की age जैसी बातों पर निर्भर करती है।

(vii) Kisan Vikas Patra का Interest Rate

KVP आपके investment को 10 साल और चार महीने में डबल करने का वादा करता है।

यह scheme इस समय आपके investment पर 6.9% से compound annually rate से interest दे रही है।

इसलिए, यदि आप एक fixed amount का investment करते हैं, तो आप 124 महीने के अंत में लगभग double amount पाएंगे।

Rate of interest मे changes होते रहते है। यह Union ministry of finance द्वारा तय किया जाता है। Ministry हर quarter में रेट की समीक्षा करता है।

वैसे तो interest rate बदलते है, लेकिन एक investor को maturity amount वो ही मिलेगा जिसकी certificate की शुरुआत में गारंटी दी जाती है।

Maturity के समय भले ही rate of interest बदल गया हो, लेकिन आपके रिटर्न में इसका असर नहीं होगा। आपको वही मिलेगा जो आपसे वादा किया गया था, बेशक rates गिर गए हों।

यही कारण है कि KVP को investment के सबसे safe options में से एक माना जाता है।

5. Frequently Asked Questions (FAQ) on Kisan Vikas Patra (KVP Scheme) – FAQ on किसान विकास पत्र

What is the interest rate on Kisan Vikas Patra? – किसान विकास पत्र पर ब्याज दर क्या है?

KVP आपको 7.6% की दर से ब्याज देगा। इस scheme मैं सालाना ब्याज मिलता है। (कृपया ये ध्यान मैं रखें की ब्याज दर (interest rate) सरकार की अधिसूचना के अनुसार समय-समय पर परिवर्तन के अधीन है।)

When do the KVP certificate mature? – KVP प्रमाणपत्र कब परिपक्व होता है?

KVP की amount 113 महीने (9 साल और 5 महीने) के बाद निकाली जा सकती है। Finance Ministry द्वारा किए गए दर परिवर्तनों के आधार पर Maturity duration बदल सकती है। हालांकि, जारी किए गए certificate पर परिपक्वता मूल्य पूर्व-मुद्रित है। Premature नकदीकरण ढाई साल के बाद किया जा सकता है और वो नियम और शर्तों के अधीन है।

What is the minimum investment for KVP? – KVP के लिए न्यूनतम निवेश क्या है?

न्यूनतम निवेश राशि Rupees 1,000 और Rupees 1000 के गुणक में। उदाहरण के लिए 1000, 2000, 3000.

Are the KVP certificates transferable? – KVP प्रमाणपत्र हस्तांतरणीय हैं?

जी हां, KVP certificates एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के लिए, एक डाकघर से दूसरे में, भारत में कहीं भी स्थानांतरित किया जा सकता है।

Can KVP be purchased by a Non Resident Indians? – क्या किसान विकास पत्र एक गैर निवासी भारतीयों द्वारा खरीदा जा सकता है?

नहीं, अनिवासी भारतीय (NRI) किसान विकास पत्र खरीदने के लिए पात्र नहीं हैं क्योंकि नियमों में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है।

Can my KVPs be encashed only at the post office where it was issued? – क्या मेरे केवीपी को केवल डाकघर के कार्यालय में रखा जा सकता है?

जी नहीं केवीपी किसी भी अन्य डाकघर में जमा और encash हो सकता है।

My KVPs have got lost, can I get a duplicate certificate? – मेरे केवीपी खो गए हैं, क्या मुझे डुप्लीकेट प्रमाण पत्र मिल सकता है

जी हाँ – डुप्लिकेट प्रमाण पत्र को जारी करने के लिए पोस्ट ऑफिस को लिखें और अपनी पहचान पर्ची के साथ भेजें। यदि आपने पहचान पर्ची खो दी है तो KVP के स्वामित्व को साबित करने के लिए अपनी ठोस शक्तियों का उपयोग करें!

Is KVP taxable? – केवीपी कर योग्य है?

बैंकों के साथ 5 साल की fixed deposit में किए गए investment को section 80C के तहत कटौती की अनुमति है। KVP पर अर्जित ब्याज अन्य स्रोतों से आय के तहत कर योग्य है।

What is KVP in post office? – पोस्ट ऑफिस में KVP क्या है?

किसान विकास पत्र (KVP) प्रमाणपत्रों के रूप में भारत के डाकघरों में उपलब्ध एक पोपुलर बचत योजना है।

Is KVP a good investment? – क्या केवीपी एक अच्छा निवेश है?

KVP scheme एक कम risk वाली investment है जो safe है क्योंकि यह सरकार द्वारा promoted है। इसलिए, यदि आप risk लेने को तैयार नहीं हैं और फिर भी high returns कमाना चाहते हैं, तो यह आपके लिए एक अच्छा विकल्प है।

दोस्तो ये थी पूरी जानकारी Kisan Vikas Patra – Eligibility, Features, Interest Rates & Returns – किसान विकास पत्र के बारे मैं|

हमें आशा है कि आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा। कृपया इस पोस्ट को अपने निकट और प्रिय लोगों के साथ share करें।

आपको पसंद आएंगे – You Might Also Like