Investing

National Pension Scheme (NPS) नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) के बारें में पूरी जानकारी

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr

राष्ट्रीय पेंशन योजना (National Pension Scheme), Pension Fund Regulatory Authority of India (PFRDA) और central government के दायरे में retirement के लिए एक voluntary और long term investment plan है।

इस ब्लॉग पोस्ट मैं आप पाएंगे पूरी जानकारी एनपीएस के बारे मैं|

National Pension Scheme (NPS)

What is NPS (National Pension Scheme)? – एनपीएस (राष्ट्रीय पेंशन योजना) क्या है?

यह pension scheme, government, private और यहां तक ​​कि unorganized sectors के employees के लिए है, लेकिन armed forces के लिए नहीं है।

यह scheme लोगों को उनके employment के दौरान regular intervals पर pension account में invest करने के लिए encourage करती है।

Retirement के बाद, investor अपने funds का एक fixed percentage निकाल सकते हैं और आपको balance amount एक monthly pension के रूप में मिलेगी।

NPS scheme private sector में काम करने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए बहुत अधिक मूल्य रखती है जिसे retirement के बाद regular pension की जरूरत होती है।

NPS अपने subscribers के पैसे को equity और debt जैसे market linked instruments मे लगाता है, इसलिए final pension amount इनके performance पर depend करती है।

इसमें किए गए contribution पर 12% से 14% का interest rate है।

18-60 age group में कोई भी Indian citizen NPS account खोल सकता है।

NPS 60 वर्ष की age में mature होता है, लेकिन 70 वर्ष की age तक इसे बढ़ाया जा सकता है।

Account opening के तीन साल बाद, NPS account से 25% तक partial withdrawal किया जा सकता है, लेकिन घर खरीदने, बच्चों की शिक्षा या critical illness जैसे कुछ specific purpose के लिए लिया जा सकता है।

Who Should Invest in NPS? – एनपीएस में किसे निवेश करना चाहिए?

NPS उन लोगों के लिए एक अच्छी scheme है, जो अपनी retirement को जल्दी plan करना चाहते हैं और इसमे risk भी कम है।

आपके retirement years में एक regular pension एक वरदान से कम नहीं है, खासकर उन लोगो के लिए जो private sector की नौकरियों से retire होते हैं।

इस तरह एक systematic investment आपके retirement के बाद की life के लिए मे एक बड़ा difference ला सकती है।

Salaried लोग जो 80 C deductions का फायदा लेना चाहते हैं, वे भी इस scheme के बारे मे सोच सकते हैं।

How to Open NPS account? – एनपीएस खाता कैसे खोलें?

आप इसे online और offline दोनों तरह से account खोल सकते हैं।

यदि आपके पास Aadhaar card, PAN card और Bank account है, तो आप NPS account enps.nsdl.com या enps.karvy.com पर खोल सकते हैं।

ये NPS में Central Record Keeping Agency (CRA) के portals हैं।

यदि आप NPS account, offline mode में खोलना पसंद करते हैं, तो आप अपने पास के NPS point of presence (POP) में जा सकते हैं, जो आपके bank की ही nominated branch है।

किसी भी case में (online या offline mode मे account खोलने पर), आप contribution कर सकते हैं, details बदल सकते हैं, fund manager बदल सकते हैं और यह सब online enps.nsdl.com मे कर सकते हैं।

NPS Asset Classes – एनपीएस एसेट क्लास

NPS account में contributed amount को 4 assets class मे invest किया जाता है।

National Pension Scheme में चार asset classes हैं।

  • Asset class E equities और stock में invest करता है।
  • The Asset class C corporate bonds में invest करता है।
  • Asset class G का invest Central और state government के bonds में होता है
  • The Asset class A alternative assets जैसे real estate investment trusts और investment infrastructure trusts में invest करता है।

Investment choice and NPS Asset allocation – निवेश विकल्प और एनपीएस एसेट आवंटन

National Pension Scheme के तहत, आप या तो अपनी asset allocation को active choice मे चुन सकते हैं या अपने NPS fund manager को auto choice से outsource कर सकते हैं।

जब तक आपको market से जुड़े investment options में invest करने की अच्छी knowledge नहीं है, तब तक auto choice करना ही सही है।

Active choice

Active choice में subscriber अपने NPS deposit के division को equity, corporate bonds, government bonds और alternative asset को अपने हिसाब से रखता है।

NPS subscriber को NPS के हर asset allocation matrix को Pension fund manager को देना होता है |

Asset allocation matrix मे, equity मे allocation 75% से अधिक नहीं हो सकता है और यह भी केवल 50 वर्ष की आयु तक ही valid है।

51 वर्ष से equity के लिए allocation एक defined matrix के अनुसार कम होना शुरू होता है।

इसी तरह, alternative investment fund मे भी आपका contribution आपके funds के 5% से अधिक नहीं हो सकता है।

Auto choice

Auto choice में, आपके fund manager आपके लिए asset allocation process करते है (maximum equity allocation यहाँ भी 75% है)।

आपकी age के साथ साथ, कम equity और अधिक debt funds की ओर बढ़ते हैं, funds आपके asset allocation को भी rebalance कर देता है।

आप एक financial year में दो बार तक अपनी asset allocation को बदल सकते हैं।

Asset class A (Alternative asset) केवल NPS active choice में दी जाती है।

Types of NPS Accounts – एनपीएस खातों के प्रकार

Tier I Account:

यह account u/s 80C मे हर वर्ष 1.5 लाख रुपये तक की tax deduction करता है और u/s 80CCD (1B) के तहत 50,000 रुपये तक की additional amount भी देता है।

यह non-withdrawable permanent retirement account है।

Maturity पर यानी 60 साल की उम्र में, 60% funds जो tax-free है उसे वापस लिया जा सकता है।

Balance 40% से annuity खरीदने के लिए किया जाता है

Tier II Account:

यह एक voluntary retirement cum saving account है जिसे केवल आपके पास Tier I account होने पर खोला जा सकता है।

Subscriber अपनी सुविधा के अनुसार कभी भी अपने fund को invest करने या withdraw करने के लिए आजाद हैं।

Private sector के employees या self-employed व्यक्तियों के लिए इस खाते में कोई tax deduction नहीं है।

NPS Tax Treatment – एनपीएस टैक्स ट्रीटमेंट

Investment पर Tax Benefit

NPS subscriber, Income tax act 1961 की u/s 80C तहत 1.5 लाख तक के investment पर tax benefit ले सकते है।

NPS investor u/s 80CCD के तहत 50,000 रुपये तक के पर additional tax benefit का claim कर सकते हैं।

Returns पर tax benefit

NPS returns market linked है और इसलिए return market के performance पर निर्भर करता है।

हालांकि, NPS investment पर earned returns पूरी तरह से tax exempt है।

Maturity पर tax benefit

NPS खाता 60 वर्ष की आयु में mature होता है। हालाँकि, funds का केवल 60% ही maturity के समय ही निकाला जा सकता है।

बाकी 40% धनराशि को annuity में invest करना जरूरी है।

FY 2020-21 से सरकार ने maturity के समय एक साथ में वापस लिए गए पूरे 60% को tax-free बना दिया है।

यह NPS को पूरी तरह से tax-free investment बनाता है।

Which pension funds are listed in NPS? – एनपीएस मे कौन से पेंशन फंड सूचीबद्ध हैं

इस समय में 8 fund manager हैं जो return को maximum करने के लिए subscribers के funds को manage कर रहे हैं:

  1. Birla Sun Life Pension Fund Ltd
  2. Kotak Mahindra Pension Funds Ltd
  3. HDFC Pension Management Co. Ltd
  4. LIC Pension Fund Ltd
  5. ICICI Prudential Pension Fund Management Ltd
  6. UTI Retirement Solutions Ltd
  7. Reliance Capital Pension Fund Ltd
  8. SBI Pension Fund Pvt. Ltd

Pre-mature withdrawal in National Pension Scheme – राष्ट्रीय पेंशन योजना में पूर्व परिपक्व निकासी

इस pension scheme में, आपके लिए 60 वर्ष की आयु तक investment जारी रखना जरूरी है।

लेकिन, यदि आप कम से कम 3 वर्षों से invest कर रहे हैं, तो आप कुछ specific purposes के लिए 25% तक का withdrawal कर सकते हैं।

इनमें बच्चों की शादी या higher studies, घर बनाना या खरीदना या critical illness शामिल हैं।

आप पूरे tenure में 3 बार (gap of 5 years) withdrawal कर सकते हैं।

ये restrictions केवल Tier I accounts पर लगाए गए हैं न कि Tier II accounts पर।

FAQ on National Pension Scheme (NPS)

What is National Pension System? – राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली क्या है?

नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) भारत के नागरिकों को बुढ़ापे से सुरक्षा प्रदान करने के लिए भारत सरकार (Indian Government) द्वारा शुरू की गई एक पेंशन निवेश योजना है। यह योजना पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) द्वारा नियंत्रित की जाती है।

Who can join NPS? – एनपीएस में कौन शामिल हो सकता है?

भारत का कोई भी व्यक्तिगत नागरिक (निवासी और अनिवासी) 18-65 वर्ष तक (एनपीएस आवेदन जमा करने की तिथि के अनुसार) एनपीएस में शामिल हो सकते हैं।

Can I open multiple NPS accounts? – क्या मैं कई एनपीएस खाते खोल सकता हूं?

नहीं, किसी व्यक्ति के लिए कई NPS खाते खोलने की अनुमति एनपीएस के तहत नहीं है। हालाँकि एक व्यक्ति का एक खाता एनपीएस में और दूसरा खाता अटल पेंशन योजना (Atal Pension Scheme) में जरूर हो सकता है।

Can I open an NPS account jointly with my spouse or child? – क्या मैं अपने जीवनसाथी या बच्चे के साथ संयुक्त रूप से एनपीएस खाता खोल सकता हूं?

जी नहीं, एनपीएस खाता केवल व्यक्तिगत (individual) क्षमता में खोला जा सकता है और संयुक्त रूप (joint) से या एचयूएफ (HUF) की ओर से खोला या संचालित नहीं किया जा सकता है।

How NPS works? – एनपीएस कैसे काम करता है

सफल नामांकन पर, एक स्थायी सेवानिवृत्ति खाता संख्या (PRAN) एनपीएस के तहत ग्राहक को आवंटित की जाती है।

PRAN generate होने के बाद, एक email alert notification के साथ-साथ एक SMS alert NSDL-CRA (सेंट्रल रिकॉर्ड कीपिंग एजेंसी) द्वारा subscriber के रजिस्टर्ड ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर पर भेजा जाता है।

Retirement के लिए corpus बनाने के लिए working life के दौरान subscriber समय-समय पर और नियमित रूप से NPS के लिए योगदान देता है।

Retirement या योजना से बाहर निकलने पर, corpus को सब्सक्राइबर को इस आदेश के साथ उपलब्ध कराया जाता है कि monthly pension post-retirement प्रदान करने या योजना से बाहर निकलने के लिए corpus के कुछ हिस्से को annuity में invest किया जाए।

Can I change my investment choices? – क्या मैं अपने निवेश विकल्पों को बदल सकता हूं?

जी हां, आप Tier-1 और Tier -2 दोनों खातों के लिए financial year में एक बार अपने investment choices को बदल सकते हैं।


तो दोस्तो ये थी पूरी जानकारी National Pension Scheme (NPS) नेशनल पेंशन स्कीम (एनपीएस) के बारें में।

हमें आशा है कि आपको यह article पसंद आया होगा। कृपया इस blog post को अपने निकट और प्रिय लोगों के साथ साझा करें।

आपको पसंद आएंगे – You Might Also Like